पञ्चांग

पञ्चांग

 

  जून  २०२१  का  पञ्चांग –

 
तिथि वार नक्षत्र योग करण
1 ज्येष्ठ कृष्ण सप्तमी 24:46+ मंगलवार धनिष्ठा 16:07 वैधृति 27:01+

विष्टि 12:50

बव 24:46+

2 ज्येष्ठ कृष्ण अष्टमी 25:13+ बुधवार शतभिषा 16:59 विष्कुम्भ 26:26+

बालव 12:54

कौलव 25:13+

3 ज्येष्ठ कृष्ण नवमी 26:22+ बृहस्पतिवार पूर्वाभाद्रपद 18:35 प्रीति 26:23+

तैतिल 13:42

गर 26:22+

4 ज्येष्ठ कृष्ण दशमी 28:07+ शुक्रवार उत्तराभाद्रपद 20:47 आयुष्मान 26:48+

वणिज 15:11

विष्टि 28:07+

5 ज्येष्ठ कृष्ण एकादशी शनिवार रेवती 23:28 सौभाग्य 27:35+

बव 17:10

बालव

6 ज्येष्ठ कृष्ण एकादशी 06:19 रविवार अश्विनी 26:27+ शोभन 28:35+

बालव 06:19

कौलव 19:32

7 ज्येष्ठ कृष्ण द्वादशी 08:48 सोमवार भरणी 29:36+ अतिगण्ड

तैतिल 08:48

गर 22:06

8 ज्येष्ठ कृष्ण त्रयोदशी 11:24 मंगलवार कृत्तिका अतिगण्ड 05:41

वणिज 11:24

विष्टि 24:42+

9 ज्येष्ठ कृष्ण चतुर्दशी 13:58 बुधवार कृत्तिका 08:44 सुकर्मा 06:47

शकुनि 13:58

चतुष्पद 27:12+

10 ज्येष्ठ कृष्ण अमावस्या 16:22 बृहस्पतिवार रोहिणी 11:44 धृति 07:48

नाग 16:22

किंस्तुघ्न 29:28+

11 ज्येष्ठ शुक्ल प्रतिपदा 18:30 शुक्रवार मॄगशिरा 14:31 शूल 08:37

बव 18:30

बालव

12 ज्येष्ठ शुक्ल द्वितीया 20:18 शनिवार आर्द्रा 16:57 गण्ड 09:13

बालव 07:27

कौलव 20:18

13 ज्येष्ठ शुक्ल तृतीया 21:40 रविवार पुनर्वसु 19:00 वृद्धि 09:30

तैतिल 09:02

गर 21:40

14 ज्येष्ठ शुक्ल चतुर्थी 22:34 सोमवार पुष्य 20:36 ध्रुव 09:27

वणिज 10:11

विष्टि 22:34

15 ज्येष्ठ शुक्ल पञ्चमी 22:57 मंगलवार आश्लेषा 21:42 व्याघात 09:00

बव 10:49

बालव 22:57

16 ज्येष्ठ शुक्ल षष्ठी 22:45 बुधवार मघा 22:14 हर्षण 08:08

कौलव 10:55

तैतिल 22:45

17 ज्येष्ठ शुक्ल सप्तमी 22:00 बृहस्पतिवार पूर्वाफाल्गुनी 22:13

वज्र 06:49

सिद्धि 29:01+

गर 10:27

वणिज 22:00

18 ज्येष्ठ शुक्ल अष्टमी 20:39 शुक्रवार उत्तराफाल्गुनी 21:37 व्यतीपात 26:46+

विष्टि 09:24

बव 20:39

19 ज्येष्ठ शुक्ल नवमी 18:45 शनिवार हस्त 20:28 वरीयान 24:05+

बालव 07:46

कौलव 18:45

तैतिल 29:37+

20 ज्येष्ठ शुक्ल दशमी 16:21 रविवार चित्रा 18:49 परिघ 20:59

गर 16:21

वणिज 26:59+

21 ज्येष्ठ शुक्ल एकादशी 13:31 सोमवार स्वाती 16:45 शिव 17:33

विष्टि 13:31

बव 23:59

22 ज्येष्ठ शुक्ल द्वादशी 10:22 मंगलवार विशाखा 14:22 सिद्ध 13:51

बालव 10:22

कौलव 20:42

23

ज्येष्ठ शुक्ल त्रयोदशी 06:59

चतुर्दशी 27:32+

बुधवार अनुराधा 11:48 साध्य 10:00

तैतिल 06:59

गर 17:16

वणिज 27:32+

24 ज्येष्ठ शुक्ल पूर्णिमा 24:09+ बृहस्पतिवार ज्येष्ठा 09:11

शुभ 06:06

शुक्ल 26:16+

विष्टि 13:50

बव 24:09+

25 आषाढ़ कृष्ण प्रतिपदा 20:59 शुक्रवार

मूल 06:40

पूर्वाषाढा 28:25+

ब्रह्म 22:37

बालव 10:32

कौलव 20:59

26 आषाढ़ कृष्ण द्वितीया 18:11 शनिवार उत्तराषाढा 26:36+ ऐन्द्र 19:18

तैतिल 07:31

गर 18:11

वणिज 28:58+

27 आषाढ़ कृष्ण तृतीया 15:54 रविवार श्रवण 25:21+ वैधृति 16:25

विष्टि15:54

बव 27:00+

28

आषाढ़ कृष्ण चतुर्थी 14:16 सोमवार धनिष्ठा 24:48+ विष्कुम्भ 14:04

बालव 14:16

कौलव 25:43+

29 आषाढ़ कृष्ण पञ्चमी 13:23 मंगलवार शतभिषा 25:02+ प्रीति 12:20

तैतिल 13:23

गर 25:14+

30 आषाढ़ कृष्ण षष्ठी 13:18 बुधवार पूर्वाभाद्रपद 26:03+ आयुष्मान 11:14

वणिज 13:18

विष्टि 25:34+

           
           
  • उपरोक्त पञ्चांग उज्जैन ( म.प्र.) का है और इसमें जो समय वर्णित है वो सम्बंधित कारक के समाप्ति का समय है |

  • जहाँ पर भी “+” का निशान लगा है वो यह सूचित करता है की ये समय अगले दिन के सूर्योदय के पहले और पञ्चांग वाले दिन के अर्धरात्रि के बाद का है |

Share on facebook
Share on whatsapp
Share on twitter
Share on linkedin
Share on telegram
Share on print