धनु राशिफल Dhanu Rashifal 2022

Dhanu rashifal

धनु राशिफल ( Dhanu Rashifal )2022

धनु राशिफल ( Dhanu Rashifal )2022 के लिये गोचरीय स्थिति :

धनु राशिफल ( Dhanu Rashifal ) 2022 के लिये शनि की स्थिति

  • शनि का गोचर अपने स्व राशि मकर अर्थात द्वितीय भाव में वर्ष के प्रारम्भ से रहेगा,
  • शनि 29 अप्रैल 2022 को अपनी मूल त्रिकोण राशि कुम्भ अर्थात तृतीय भाव में प्रवेश करेगा,
  • शनि 5 जून 2022 से वक्री हो जायेगा,
  • शनि 12 जुलाई 2022 को वक्री अवस्था में ही अपनी पूर्व राशि मकर में प्रवेश करेगा,
  • शनि 23 अक्टूबर 2022 से मार्गी हो जायेगा,

शनि का नक्षत्र भ्रमण

  • श्रवण नक्षत्र में वर्ष के प्रारम्भ से
  • धनिष्ठा नक्षत्र में 18 फरवरी 2022 से

धनु राशिफल ( Dhanu Rashifal ) 2022 के लिये बृहस्पति की स्थिति

  • बृहस्पति का गोचर कुम्भ राशि अर्थात तृतीय भाव में वर्ष के प्रारम्भ से रहेगा,
  • बृहस्पति 13 अप्रैल 2022 को अपनी स्वराशि मीन अर्थात चतुर्थ भाव में प्रवेश करेगा,
  • बृहस्पति 29 जुलाई 2022 से वक्री हो जायेगा,
  • बृहस्पति 24 नवंबर 2022 से मार्गी हो जायेगा,

बृहस्पति का नक्षत्र भ्रमण

  • शतभिषा नक्षत्र में 2 जनवरी 2022 से
  • पूर्व भाद्रपद नक्षत्र में 2 मार्च 2022 से
  • उत्तर भाद्रपद नक्षत्र में 28 अप्रैल 2022 से

धनु राशिफल ( Dhanu Rashifal ) 2022 के लिये राहु की स्थिति

  • राहु का गोचर वृष राशि अर्थात षष्ठम भाव में वर्ष के प्रारम्भ से रहेगा,
  • राहु 12 अप्रैल 2022 को मेष राशि अर्थात पञ्चम में प्रवेश करेगा,

राहु का नक्षत्र भ्रमण

  • भरणी नक्षत्र में 14 जून 2022 से

धनु राशिफल ( Dhanu Rashifal ) 2022 के लिये केतु की स्थिति

  • केतु का गोचर वृश्चिक राशि अर्थात द्वादश भाव में वर्ष के प्रारम्भ से रहेगा,
  • केतु 12 अप्रैल 2022 को तुला राशि अर्थात एकादश भाव में प्रवेश करेगा,

केतु  का नक्षत्र भ्रमण

  • विशाखा नक्षत्र में 8 फरवरी 2022 से
  • स्वाति नक्षत्र में 18 अक्टूबर 2022 से
1.

धनु राशिफल ( Dhanu Rashifal ) :

धनु राशिफल में ग्रहों की स्थितियों के अनुसार यह वर्ष आपके लिये ठीक रहेगा, आपकी धनु राशि में इस वर्ष शनिदेव की साढ़ेसाती अपने आखिरी चरण में है अब आपको साड़ेसाती के प्रभावों में थोड़ी नरमी का अहसास होगा, यदि आपके ऊपर इस वर्ष पहले से कोई ऋण चलता चला आ रहा हो तो उस ऋण की अदायगी की सम्भावना बन सकती है एवं साथ ही साथ साढ़ेसाती के पहले के दो चरणों में आपने जो संघर्ष व परिश्रम किया उसका प्रतिफल आपको मिल सकता है,

इस वर्ष शनिदेव वर्ष पर्यन्त 29 अप्रैल से 12 जुलाई के अलावा अपनी स्वराशि मकर में स्थित रहेंगे, जहाँ से शनिदेव की दृष्टि चतुर्थ; अष्टम एवं एकादश भाव पर होगी, शनि की दृष्टि चतुर्थ भाव पर होने से आपके सुख शान्ति में थोड़ी विघ्न बाधा आ सकती है एवं किसी कार्य विशेष के कारण आपको अपनी जन्मभूमि से दूर रहना पड़ सकता है, शनिदेव के अष्टम भाव पर दृष्टि के प्रभाव से शत्रुओं के गुप्त षड़यंत्र आपके सामने प्रकट होंगे एवं यदि आप कोई रिसर्च का कार्य करते हैं तो आपको मनोवांछित सफलता मिल सकती है, एकादश भाव पर शनि की दृष्टि से आपके आय में थोड़ी कमी आ सकती है एवं आपका अपने मित्रों से थोड़ा अनबन हो सकता है,

13 अप्रैल के पश्चात स्वराशिस्थ बृहस्पति चतुर्थ भाव में गोचर करेगा जहां से बृहस्पति की दृष्टि अष्टम; दशम व द्वादश भाव पर होगी, बृहस्पति के अष्टम भाव पर प्रभाव से स्थावर अर्थात स्थिर संपत्ति की प्राप्ति हो सकती है एवं आपकी तरक्की में थोड़ी गति आ सकती है, बृहस्पति के द्वादश भाव पर दृष्टि के प्रभाव से विदेश यात्राओं का अवसर मिल सकता है एवं धन का व्यय शुभ एवं मांगलिक कार्यों में हो सकता है,

12 अप्रैल के पश्चात राहु के पञ्चम भाव पर प्रभाव से विचारों में थोड़ी उद्विग्नता आ सकती है और यदि आपके कोई संतान है तो आपका और आपके संतान के मध्य वैचारिक मतभेद हो सकता है, आपके आसपास के लोग आपके सरल स्वभाव का लाभ लेने का प्रयास कर सकते हैं ऐसे लोगों से सतर्क रहें और उनके किसी भी चापलूसी के प्रभाव में न आयें, इस वर्ष आपके अन्दर कुछ सकारात्मक बदलाव आ सकता है,

 इस वर्ष दुर्घटना की सम्भावना है अतः आपको वाहन बहुत सम्भाल कर चलाना चाहिये, इस वर्ष आप अनावश्यक यात्राओं से बचें, यदि किसी पैतृक सम्पत्ति का विवाद चल रहा हो तो उसमें न्यायपूर्ण समाधान मिलने की सम्भावना है, आपको अपने क्रोध पर थोड़ा नियंत्रण रखना होगा अन्यथा वाद विवाद की स्थितियां उत्त्पन्न हो सकती है |

इस वर्ष को अपने अनुकूल करने व सर्वोन्नती के लिये एकमुखी, चारमुखी व पांचमुखी इन तीनों रुद्राक्षों को धारण करें |

धनु राशिफल ( Dhanu Rashifal )- व्यवसाय :  

धनु राशिफल के अनुसार इस वर्ष आपके व्यवसायिक परियोजनाओं में विलम्ब होने की सम्भावना रहेगी, यदि आप व्यापार करते है तो इस वर्ष होने वाले व्यापारिक विवादों को प्राथमिकता से हल कर लें, इस वर्ष नयें लोगों से व्यवसायिक सम्पर्क बनाने में अतिरिक सावधानी रखनी होगी हानि की सम्भावना है, यदि आप व्यापार करते है तो व्यापार में होने वाले परिवर्तन से जो भी दूरगामी परिणाम हो सकते है उनका पहले से ही अवलोकन कर लें, इस वर्ष आपको अपने व्यवसाय से मानसिक परेशानियाँ मिल सकती है,

आप यदि साझीदारी में व्यापार करते हैं तो आपको अपने साझेदार से व्यापारिक गतिविधियों में पारदर्शिता और अच्छा व्यवहार रखना उचित होगा, यदि आप नौकरीपेशा है तो और इस वर्ष आपको आपने उच्चाधिकारियों की तरफ से थोड़ा बहुत नाराजगी का सामना करना पड़ सकता है और आपको अपने कार्यस्थल पर सहकर्मियों से सहयोग मिलेगा |

 अपने व्यवसाय के उन्नति हेतु आप  “शनि अष्टोत्तरशतनामस्तोत्रम्” का पाठ करें |  

 

धनु राशिफल ( Dhanu Rashifal )- स्वास्थ्य :

धनु राशिफल के अनुसार इस वर्ष 12 अप्रैल तक राहु-केतु का प्रभाव रोग भाव पर होने से आपका स्वास्थ्य थोड़ा नरम रहेगा, 12 अप्रैल से राहु केतु के राशि परिवर्तन के पश्चात आपका स्वास्थ्य उत्तम रहेगा, पहले से चली आ रहे बीमारियों में भी थोडा आराम मिल सकता है,

वर्ष के पूर्वार्ध भाग में आपको अपने स्वास्थ्य पर थोडा ध्यान देना होगा ख़ास कर गले या कफ से सम्बन्धित रोगों से थोड़ा कष्ट मिल सकता है, थोड़ी सी भी स्वास्थ्य के प्रति लापरवाही कष्टकारी हो सकती है एवं सन्तुलित भोजन आपके स्वास्थ्य के लिये लाभप्रद होगा |  

धनु राशिफल ( Dhanu Rashifal )- दाम्पत्य जीवन एवं पारिवारिक जीवन :

धनु राशिफल के अनुसार पारिवारिक सुख शान्ति की दृष्टि से यह वर्ष मध्यम रहेगा, इस वर्ष दम्पत्तियों के मध्य प्रेम माधुर्य एवं सामंजस्य बना रहेगा, शनि की चतुर्थ भाव पर दृष्टि के प्रभाव से आपका अपनी माता से कुछ अनबन हो सकता है पर आप उनका मान सम्मान बनायें रखें साथ ही साथ आपको अपनी माँ का विशेष ख्याल रखना चाहिए और उनकी कही बातों का मनन करने से आपको सबलता मीलेगी,

 समाज में आपके मान प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी, आपको अपने भाई बहनों से पूर्ण सहयोग मिलेगा, रिश्तेदार लोग आपके आत्मबल को मजबूत बनाने में सहयोग करेंगे एवं परिवार के अन्य सदस्यों से भी अच्छा सामंजस्य बना रहेगा |  

 

धनु राशिफल ( Dhanu Rashifal )- शिक्षा :

धनु राशिफल के अनुसार वर्ष का प्रारम्भ आपके विद्या अध्ययन के अनुकूल रहेगा परन्तु 13 अप्रैल के पश्चात राहु के पंचम भाव में भ्रमण के कारण थोड़ा समय विपरीत रहेगा और पढ़ाई से मन उचाट रहेगा, इस वर्ष आपके जीवनशैली में आमोद-प्रमोद व आलस्य की अधिकता रहेगी यदि आप इन पर नियंत्रण रख सकें तो यह वर्ष आपके लिए बहुत स्वर्णिम सिद्ध होगा, 

यह वर्ष विद्यार्थियों के लिए श्रमसाध्य होगा, प्रतियोगी परीक्षाओं में भाग लेने वाले प्रतियोगियों को उनके परिश्रम का बहुत ही अच्छा परिणाम मिलेगा, वर्ष के उत्तरार्ध में यदि पढ़ाई से मन उचाट होने लगे तो माता सरस्वती को नीले रंग के पुष्प अर्पित करें |

धनु राशिफल ( Dhanu Rashifal )- उपाय :

 धनु राशिफल के अनुसार इस वर्ष यदि आप परिस्थितियों को अपने प्रतिकूल महसूस कर रहे हो तो निम्न उपाय करें जिससे आपको काफी राहत मिलेगी –     

  • गोधूली बेला में पीपल के पेड़ के नीचे सरसों के तेल का दीपक जलाएं |
  • प्रातःकाल ललाट पर केसर का तिलक लगाए |
  • शनि ग्रह की शान्ति करें |

गणपति अथर्वशीर्ष से लाभ व पाठ विधि

रुद्राक्ष धारण करने से लाभ व धारण विधि

नवग्रह शान्ति विधि

यदि आप अपनी कुण्डली के अनुसार अपना भविष्य जानना चाहते है या किसी विशेष प्रश्न का ज्योतिषीय हल चाहते है तो एस्ट्रोरुद्राक्ष के ज्योतिषी से अभी परामर्श लें