कुम्भ राशिफल २०२१

कुम्भ राशिफल २०२१

गोचरीय स्थिति :

वर्ष २०२१ में शनि का गोचर अपने स्व राशि मकर अर्थात आपके द्वादश भाव में पूरे वर्ष रहेगा जहाँ से शनि की दृष्टि द्वितीय भाव, षष्ठम भाव एवं नवम भाव पर होगी |

बृहस्पति  का भी गोचर ६ अप्रैल २०२१ तक मकर राशि में शनि के साथ रहेगा, बृहस्पति ६ अप्रैल २०२१ से कुम्भ राशि अर्थात एकादश भाव में गोचर करेगा, वर्ष के मध्य में २० जून २०२१ से कुल १२० दिन के लिए बृहस्पति वक्री हो जाएगा, इसी वक्रकाल में १४ सितम्बर २०२१ को बृहस्पति वक्री अवस्था में रहते हुए अपनी पूर्ववत राशि मकर में प्रवेश करेगा, यहाँ से १८ अक्टूबर २०२१ को बृहस्पति मार्गी होकर मकर राशि में भ्रमण करता हुआ २१ नवम्बर २०२१ को कुम्भ राशि में पुनः प्रवेश करेगा |

जब बृहस्पति मकर राशि में भ्रमण करेगा तब उसकी दृष्टि चतुर्थ भाव, षष्ठम भाव एवं अष्टम भाव पर पड़ेगी और जब कुम्भ राशि में भ्रमण करेगा तब उसकी दृष्टि पञ्चम भाव, सप्तम भाव एवं नवम भाव पर पड़ेगी |

राहू पुरे वर्ष वृष राशि अर्थात चतुर्थ भाव में गोचर करेगा और केतु वृश्चिक राशि अर्थात दशम भाव में गोचर करेगा |            

 

कुम्भ राशि का सामान्य राशिफल :

इस वर्ष आप शनि की साढ़ेसाती का आरम्भिक चरण में है परन्तु बृहस्पति के शुभ प्रभाव के कारण आपको बहुत अधिक परेशानियों का सामना नहीं करना पड़ेगा | इस वर्ष आपको अपने पैतृक संपत्ति का रख रखाव बहुत अच्छे से करना होगा एवं पैतृक संपत्ति से सम्बंधित विवाद को अत्यंत संयम एवं नैतिक तरीके से करना उचित होगा | इस वर्ष शत्रुओं की गतिविधियों को नजरअंदाज करना कष्टकारी हो सकता है | इस वर्ष आपको ऋण लेने से बचना चाहिए | आपको वाहन चलाने में थोड़ी सावधानी रखनी होगी | पारिवारिक सदस्यों व इष्ट मित्रों से सौहाद्रपूर्ण व्यवहार रखना उचित होगा | वर्ष के मध्य में निवेश के मामले में सावधानी रखें | इस वर्ष आप अनावश्यक यात्राओं से बचें | यदि आपका न्यायालय में कोई वाद चल रहा है तो इस वर्ष आपको इसका समुचित समाधान मिल सकता है |      

 

कुम्भ राशि का व्यवसाय :

इस वर्ष आपको अपने व्यवसायिक गतिविधियों में विशेष सतर्कता रखनी होगी, व्यवसायिक परियोजनाओं में विलम्ब होने की सम्भावना रहेगी | यदि आप व्यापार करते है तो इस वर्ष होने वाले व्यापारिक विवादों को प्राथमिकता से हल कर लें, आप इस वर्ष व्यापार में होने वाले परिवर्तन से जो भी दूरगामी परिणाम हो सकते है उनका अवलोकन कर लें | यदि आप साझेदारी में व्यापार करते है तो आपको अपने साझीदार के व्यापारिक सुझावों पर ध्यान देना चाहिए | यदि आप नौकरीपेशा है तो आपको इस वर्ष अपने कार्यस्थल पर सभी से मधुर व्यवहार रखना उचित होगा और वर्ष के मध्य भाग में उच्चाधिकारियों की तरफ से थोड़ा बहुत नाराजगी का सामना करना पड़ सकता है |    

 

कुम्भ राशि का स्वास्थ्य :

इस वर्ष आपको वर्ष के मध्य में अपने स्वास्थ्य का विशेष ध्यान रखना होगा, इस वर्ष आपको मानसिक तनाव व चिंता का सामना करना पड़ सकता है, इस वर्ष आपको उच्च रक्तचाप एवं ह्रदय से सम्बन्धित रोग पर विशेष ध्यान रखना होगा, पहले से चले आ रहे रोगों में लापरवाही आपके हित में नही होगा | इस वर्ष आपको अपने स्वास्थ्य के लिए प्राकृतिक जीवन शैली अपनाना ज्यादा उचित होगा |     

 

कुम्भ राशि की शिक्षा :

यह वर्ष विद्यार्थियों के लिए बहुत अधिक संतोषजनक नही रहेगा, विद्यार्थियों को इस वर्ष आलस्य का त्याग कर अपने अध्ययन पर पूर्ण रूप से ध्यान देना होगा | इस वर्ष के मध्य भाग में स्वत: ही अध्ययन में रूचि जागृत होगी, प्रतियोगी परीक्षाओं में भाग लेने वाले प्रतियोगियों को अपने परिश्रम पर विश्वास रखते हुए अध्ययन में लगे रहना ज्यादा उचित होगा, इस वर्ष के पूर्वाद्ध व उत्तरार्द्ध भाग में आपको प्रतियोगी परीक्षाओं में सफलता मिलने की सम्भावना बनी रहेगी | 

 

कुम्भ राशि के लिए उपाय :

इस वर्ष यदि आप समय आपने प्रतिकूल महसूस कर रहे हो तो निम्न उपाय करें जिससे आपको काफी राहत मिलेगी-  

  • हनुमानजी की उपासना करें एवं बजरंग बाण का पाठ करें |
  • कुत्ते को रोटी खिलाये |
  • सात मुखी रुद्राक्ष धारण करें |
Share on facebook
Share on whatsapp
Share on twitter
Share on linkedin
Share on telegram
Share on facebook
Share on print