मिथुन राशिफल २०२१

मिथुन राशिफल २०२१

गोचरीय स्थिति :

वर्ष २०२१ में शनि का गोचर अपने स्व राशि मकर अर्थात आपके अष्टम भाव में पूरे वर्ष रहेगा जहाँ से शनि की दृष्टि दशम भाव, द्वितीय भाव एवं पञ्चम भाव पर होगी | 

बृहस्पति  का भी गोचर ६ अप्रैल २०२१ तक मकर राशि में शनि के साथ रहेगा, बृहस्पति ६ अप्रैल २०२१ से कुम्भ राशि अर्थात एकादश भाव में गोचर करेगा, वर्ष के मध्य में २० जून २०२१ से कुल १२० दिन के लिए बृहस्पति वक्री हो जाएगा, इसी वक्रकाल में १४ सितम्बर २०२१ को बृहस्पति वक्री अवस्था में रहते हुए अपनी पूर्ववत राशि मकर में प्रवेश करेगा, यहाँ से १८ अक्टूबर २०२१ को बृहस्पति मार्गी होकर मकर राशि में भ्रमण करता हुआ २१ नवम्बर २०२१ को कुम्भ राशि में पुनः प्रवेश करेगा |

जब बृहस्पति मकर राशि में भ्रमण करेगा तब उसकी दृष्टि द्वादश भाव, द्वितीय भाव एवं चतुर्थ भाव पर पड़ेगी और जब कुम्भ राशि में भ्रमण करेगा तब उसकी दृष्टि लग्न भाव, तृतीय भाव एवं पञ्चम भाव पर पड़ेगी |

राहू पुरे वर्ष वृष राशि अर्थात द्वादश भाव में गोचर करेगा और केतु वृश्चिक राशि अर्थात षष्टम भाव में गोचर करेगा |            

मिथुन राशि का सामान्य राशिफल :

शनि के अष्टम भाव में गोचर के कारण यह वर्ष थोड़ा संघर्षमय रहेगा लेकिन बृहस्पति के शुभ प्रभाव के कारण समस्याओं का निवारण होता रहेगा| आपका अपने संतान से सम्बन्ध में थोड़ा बहुत वैचारिक मतभेद रह सकता है खासकर वर्ष के मध्य में, यदि कोई पैतृक संपत्ति का विवाद चल रहा हो तो उसमे न्यायपूर्ण हल मिलने की सम्भावना है| विदेश से सम्पर्क बनने या विदेश से लाभ मिलने की सम्भावना है, इस वर्ष आपके खर्चों में थोड़ी अधिकता रहेगी धन का व्यय थोड़ा सोच समझकर करें| इस वर्ष दुर्घटना होने की सम्भावना है अतः आप वाहन सावधानी से चलायें या जोखिम भरा कार्य कर रहें हो तो उसमें सावधानी रखें | वर्ष के मध्य में यदि आप थोड़े धार्मिक होते है तो आपके लिए स्थितियां काफी हद तक आपके अनुकूल रहेगी | आपको अपने क्रोध पर थोड़ा नियंत्रण रखना होगा अन्यथा वाद विवाद की स्थितियां उत्त्पन्न हो सकती है |     

 

मिथुन राशि का व्यवसाय :

यह वर्ष आपके व्यवसाय के लिए बहुत महत्वपूर्ण सिद्ध होगा | यदि आप कोई साझेदारी में व्यवसाय कर रहे हो तो इस वर्ष आपस में अविश्वास की स्थिति रहेगी, आपको अपने आय व्यय का समुचित प्रबन्ध और हिसाब रखना होगा अन्यथा आपका आपने साझीदार से विवाद होने की सम्भावना रहेगी | यदि आप नौकरी पेशा हैं तो यह वर्ष नौकरी में परिवर्तन के लिए अनुकूल नहीं है, आपका अपने सहकर्मियों से सम्बन्ध तनावपूर्ण रहेगा, इस वर्ष आपके उच्चाधिकारी आपके कार्यो से प्रसन्न रहेंगे |

 

मिथुन राशि का स्वास्थ्य :

इस वर्ष आपको अपने स्वास्थ्य में थोड़ा ध्यान देना होगा, वर्ष के मध्य में अच्छा स्वास्थ्य लाभ होगा और साथ में पहले से चली आ रही बीमारीयों में आराम मिलने की सम्भावना रहेगी | अनिद्रा या पेट से सम्बंधित रोग में विशेष सावधानी रखने की आवश्यकता है |आपको अपने स्वास्थ्य लाभ के लिए अपनी जीवन शैली को प्रकृति के अनुकूल करें | 

 

मिथुन राशि की शिक्षा :

विद्यार्थियों के लिए यह वर्ष बहुत ही महत्वपूर्ण सिद्ध होगा, इस वर्ष सफलता प्राप्त करने के लिए कठिन परिश्रम की आवश्यकता होगी | वर्ष के मध्य विद्यार्थियों को अनुकूल परिणाम मिलेगा | प्रतियोगी परीक्षाओं में भाग लेने वाले विद्यार्थियों को उनके मेहनत का प्रतिफल उन्हें मिल सकता है | वर्ष के प्रारम्भ व अंत में विद्यार्थियों को थोड़े प्रतिकूल परिणाम का सामना करना पड़ सकता है |    

 

मिथुन राशि के लिए उपाय :

इस वर्ष यदि आप समय आपने प्रतिकूल महसूस कर रहे हो तो निम्न उपाय करें जिससे आपको काफी राहत मिलेगी-  

  • चार मुखी रुद्राक्ष धारण करें |
  • विघ्नहर्ता भगवान गणेश की आराधना करें |
  • गाय को प्रातः काल रोटी खिलाये |