केतु शान्ति विधि

ketu yantra

केतु शान्ति विधि जब कुण्डली में केतु अशुभ हो, शत्रुक्षेत्री हो, अकारक हो, केतु किसी भी प्रकार से कष्ट दे रहा हो, गोचर में केतु अशुभ प्रभाव दे रहा हो अथवा केतु की दशा चल रही हो और उसका अशुभ फल मिल रहा हो तो केतु की शान्ति करनी चाहिए | किसी भी शनिवार या … Read more

राहु शान्ति विधि

rahu yantra

राहु शान्ति विधि जब कुण्डली में राहु अशुभ हो, शत्रुक्षेत्री हो, अकारक हो, राहु किसी भी प्रकार से कष्ट दे रहा हो, गोचर में राहु अशुभ प्रभाव दे रहा हो अथवा राहु की दशा चल रही हो और उसका अशुभ फल मिल रहा हो तो राहु की शान्ति करनी चाहिए | किसी भी शनिवार या … Read more

शनि शान्ति विधि – shani shanti vidhi

shani shanti vidhi जब कुण्डली में शनि नीच का हो, शत्रुक्षेत्री हो, त्रिक भाव में हो, पाप ग्रहों से प्रभावित हो, अकारक हो, शनि किसी भी प्रकार से कष्ट दे रहा हो, गोचर में शनि की साढेसाती या ढैय्या से शनि अशुभ प्रभाव दे रहा हो अथवा शनि की दशा चल रही हो और उसका … Read more

शुक्र शान्ति विधि

shukra yantra

शुक्र शान्ति विधि -Shukra Shanti Vidhi शुक्र शान्ति विधि (Shukra Shanti Vidhi) की आवश्यकता तब पड़ती है जब कुण्डली में शुक्र नीच का हो, शत्रुक्षेत्री हो, अष्टम् भाव में हो, पाप ग्रहों से प्रभावित हो, अकारक हो, शुक्र  किसी भी प्रकार से कष्ट दे रहा हो अथवा शुक्र की दशा चल रही हो और उसका … Read more

बृहस्पति शान्ति विधि

बृहस्पति शान्ति विधि (brihaspati shanti vidhi) – जब कुण्डली में बृहस्पति नीच का हो, शत्रुक्षेत्री हो, त्रिक में हो, पाप ग्रहों से प्रभावित हो, अकारक हो, बृहस्पति  किसी भी प्रकार से कष्ट दे रहा हो अथवा बृहस्पति की दशा चल रही हो और उसका अशुभ फल मिल रहा हो तो बृहस्पति की शान्ति करनी चाहिए, … Read more

बुध शान्ति विधि

budha yantra

बुध शान्ति विधि जब कुण्डली में बुध नीच का हो, शत्रुक्षेत्री हो, त्रिक में हो, पाप ग्रहों से प्रभावित हो, अकारक हो, बुध किसी भी प्रकार से कष्ट दे रहा हो अथवा बुध की दशा चल रही हो और उसका अशुभ फल मिल रहा हो तो बुध की शान्ति करनी चाहिए | किसी भी बुधवार … Read more

मंगल शान्ति विधि

mangal yantra

मंगल शान्ति विधि जब कुण्डली में मंगल नीच का हो, शत्रुक्षेत्री हो, त्रिक में हो, पाप ग्रहों से प्रभावित हो, अकारक हो, मांगलिक दोष हो, मंगल किसी भी प्रकार से कष्ट दे रहा हो अथवा मंगल की दशा चल रही हो और उसका अशुभ फल मिल रहा हो तो मंगल की शान्ति करनी चाहिए | … Read more

चन्द्र शान्ति विधि

chandra yantra

चन्द्र शान्ति विधि जब कुण्डली में चन्द्रमा नीच का हो, शत्रुक्षेत्री हो, त्रिक में हो, पाप ग्रहों से प्रभावित हो, पक्ष बलि न हो ( मुख्यतः सूर्य से 72 अंश के अन्दर हो ), अकारक हो, किसी भी प्रकार से कष्ट दे रहा हो अथवा चन्द्र की दशा चल रही हो और उसका अशुभ फल … Read more

सूर्य शान्ति विधि

surya yantra

सूर्य शान्ति विधि सूर्य शान्ति विधि तब करना चाहिए जब कुण्डली में सूर्य नीच का हो, शत्रुक्षेत्री हो, त्रिक में हो, पाप ग्रहों से प्रभावित हो, अकारक हो, किसी भी प्रकार से कष्ट दे रहा हो अथवा सूर्य की दशा चल रही हो और उसका अशुभ फल मिल रहा हो | किसी भी रविवार या … Read more