नौ मुखी रुद्राक्ष की महिमा व धारण विधि :

नौ मुखी रुद्राक्ष की महिमा व धारण विधि : नौ मुखी रुद्राक्ष में प्राकृतिक रूप से इसकी सतह पर नौ धारियां पायी जाती है, इस रुद्राक्ष को माता भगवती नौ दुर्गा का प्रतीक माना गया है| नौ मुखी नेपाली या इंडोनेशियायी दोनों में ही थोडा दुर्लभता से प्राप्त होता है | नेपाली दाना बड़ा व … Read more

आठ मुखी रुद्राक्ष की महिमा व धारण विधि :

आठ मुखी रुद्राक्ष की महिमा व धारण विधि : आठ मुखी रुद्राक्ष में प्राकृतिक रूप से इसकी सतह पर आठ धारियां पायी जाती है, इस रुद्राक्ष को ब्रहमाण्ड के अग्रपूज्य विघ्नहर्ता भगवान गणपति का प्रतीक माना गया है| इंडोनेशिया का दाना छोटा होने के कारण इसकी सभी रेखायें नहीं दिखती है जिस कारण ये अस्पष्ट … Read more

सात मुखी रुद्राक्ष की महिमा व धारण विधि :

सात मुखी रुद्राक्ष की महिमा व धारण विधि : सात मुखी रुद्राक्ष में प्राकृतिक रूप से इसकी सतह पर सात धारियां पायी जाती है, इस रुद्राक्ष को सप्त मातृकाओं एवं कामदेव का प्रतीक माना गया है| यह रुद्राक्ष बहुत आसानी से प्राप्त नहीं होता है, इसका नेपाली दाना ही अत्यंत प्रभावी माना गया है ये … Read more

छह मुखी रुद्राक्ष की महिमा व धारण विधि :

छह मुखी रुद्राक्ष की महिमा व धारण विधि : छह मुखी रुद्राक्ष में प्राकृतिक रूप से इसकी सतह पर छह धारियां पायी जाती है, इस रुद्राक्ष को भगवान कार्तिकेय का प्रतीक माना गया है| यह रुद्राक्ष भी बहुत ही आसानी से प्राप्त हो जाता है | यह रुद्राक्ष नेपाल व इंडोनेशिया दोनों ही जगह पाया … Read more

पांच मुखी रुद्राक्ष की महिमा व धारण विधि :

पांच मुखी रुद्राक्ष की महिमा व धारण विधि : पांच मुखी रुद्राक्ष में प्राकृतिक रूप से इसकी सतह पर पांच धारियां पायी जाती है, इस रुद्राक्ष को कालाग्नि रुद्र का प्रतीक माना गया है| पांच मुखी रुद्राक्ष सर्वाधिक सुगमता से पाए जाने वाला रुद्राक्ष है, यह विभिन्न आकार में पाया जाता है इसके बड़े दाने … Read more

चार मुखी रुद्राक्ष की महिमा व धारण विधि :

चार मुखी रुद्राक्ष की महिमा व धारण विधि : चार मुखी रुद्राक्ष में प्राकृतिक रूप से इसकी सतह पर चार धारियां पायी जाती है, इस रुद्राक्ष को श्रृष्टि रचयिता भगवान ब्रह्मा का प्रतीक माना गया है, इसकी चारों धारियों की समानता ब्रह्मा जी के चारो मुखों से की गयी है| इसका नेपाली दाना बहुत ही … Read more

तीन मुखी रुद्राक्ष की महिमा व धारण विधि :

तीन मुखी रुद्राक्ष की महिमा व धारण विधि : तीन मुखी रुद्राक्ष में प्राकृतिक रूप से इसकी सतह पर तीन धारियां पायी जाती है, इस रुद्राक्ष को अग्नि का प्रतीक माना गया है, अग्निदेव सभी प्रकार की नकारात्मक ऊर्जा को जला कर शुद्ध कर देते हैं| इस रुद्राक्ष को त्रिशक्ति का प्रतीक भी माना गया … Read more

दो मुखी रुद्राक्ष की महिमा व धारण विधि :

दो मुखी रुद्राक्ष की महिमा व धारण विधि दो मुखी रुद्राक्ष में प्राकृतिक रूप से इसकी सतह पर दो धारियां पायी जाती है, इस रुद्राक्ष को अर्धनारीश्वर का प्रतीक माना गया है, यह शिव एवं शक्ति का युग्म है| दो मुखी रुद्राक्ष इंडोनेशिया व नेपाल में पाया जाता है जिनमे नेपाली दाना में दोनों धारियां … Read more

1 Mukhi Rudraksha Amazing Benefits : एकमुखी रुद्राक्ष से लाभ व धारण विधि

एक मुखी रुद्राक्ष (1 mukhi rudraksha) को आदिदेव भगवान शिव का प्रत्यक्ष वरदान कहा गया है ,एक मुखी रुद्राक्ष को सभी रुद्राक्षों का शिरोमणि कहा गया है, यह रुद्राक्ष दो अलग अलग आकृतियों में पाया जाता है पहला गोलदाना और दुसरा काजूदाना एक मुखी रुद्राक्ष का गोल दाना अत्यन्त ही दुर्लभ माना गया है सर्वत्र … Read more